रोज़मेरी या गुलमेंहदी (Rosmarinus Officinalis) के फायदे और नुकसान

0
30

रोजमेरी को गुलमेंहदी के नाम से भी जाना जाता है। रोजमेरी स्वाद और सुगंध में अदभुत होती है। यह स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होती है। इसलिए यह अधिकतर रसोई घरों में भी प्रयोग की जाती है। इसका वैज्ञानिक नाम रोज़मेरिन ऑफिसिनलिस (Rosmarinus Officinalis) है। यह भूमध्यसागरीय क्षेत्र में उगाये जाने वाला पौधा है। यह पौधा 4-5 फुट तक लंबा होता है। इसके पौधे पर नीले रंग का फूल लगता है। इसकी प्रवृति गर्म होती है, तथा स्वाद में अधिक कड़वा और कसेला होता है। इसका अधिकतर उपयोग सूप और सॉस में किया जाता है।

रोजमेरी के फायदे

रोज़मेरी एक आयुर्वेदिक पौधा है। यह पौधा प्राकृतिक जड़ी-बूटी का काम करता है। हिंदी में इसे गुलमेंहदी और केशवास के नाम से भी जाना जाता है। रोज़मेरी से होने वाले फायदे इस प्रकार हैं।

  • प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने में

रोज़मेरी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी कार्सिनोजेनिक गुण पाए जाते हैं। जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने में सहायक होते हैं।

  • तनाव दूर करने में

रोज़मेरी के तेल का उपयोग तनाव को दूर करने में किया जाता है। इसके तेल की गंध बहुत ही अच्छी होती है, इसलिए इसका उपयोग अरोमाथेरेपी में तनाव को दूर करने और मन को शांत रखने में किया जाता है।

  • संक्रमण से बचाव

रोज़मेरी का प्रयोग जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है। यह बहुत ही लाभकारी औषधी है। यह औषधी स्टेफ संक्रमण को रोकने में मदद करती है। जिसकी वजह से बहुत से लोगों की जान चली जाती है। यह औषधी पेट में बैक्टीरिया के संक्रमण को रोकने में मदद करती है। यह औषधी अल्सर के रोग में भी लाभकारी होती है।

  • माइग्रेन के दर्द में उपयोगी

रोज़मेरी के पेस्ट को माइग्रेन के दर्द की जगह पर लगाने से दर्द में आराम मिलता है। इसके तेल की कुछ बूंदों को हथेली पर रगड़कर नाक और मुँह के पास ले जाने से सिरदर्द में राहत मिलती है।

  • सूजन कम करने में

रोज़मेरी में कार्नोसोल और कार्नोसिक नामक दो शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते है। जो माँसपेशियों, रक्त वाहिकाओं और जोड़ों की सूजन को कम करने में सहायक होते हैं।

  • रोज़मेरी का प्रयोग बालों के लिए

रोज़मेरी के तेल का प्रयोग बालों के लिए वरदान है। रोज़मेरी का तेल बालों को सुन्दर और घना बनाने में मदद करता है। इसके तेल की कुछ बूंदों को शैम्पू में डालकर बालों में लगाने से बाल मजबूत होते हैं।

  • सर्दी और खाँसी का उपचार

रोजमेरी बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन को दूर करने में मदद करती है। रोज़मेरी का तेल एक शक्तिशाली एंटीबायोटिक एजेंट का काम करता है। जो कोल्ड और फ्लू के संक्रमण से लड़ने में मदद करता है।

  • कैंसर से बचाव

रोजमेरी का प्रयोग आयुर्वेदिक जड़ी-बूटी के रूप में किया जाता है। इसके तेल में केरोसोल नामक तत्व पाया जाता है, जो कैंसर जैसी घातक बीमारी से लड़ने में मदद करता है। इसके तेल के उपयोग से स्तन कैंसर, प्रोस्टेट कैंसर, डिम्बग्रंथी के कैंसर, और रक्तकैंसर के उपचार में लाभ मिलता है।

रोज़मेरी के नुकसान

यदि किसी जड़ी-बूटी का अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो वह फायदे के साथ-साथ  नुकसान भी करती है। इसलिए किसी भी जड़ी – बूटी को लेने से पहले डॉक्टरी परामर्श अवश्य लें।

  1. इसके अधिक उपयोग से मानसिक विकार होने का ख़तरा बढ़ जाता है।
  2. इसमें कैमिकल्स उपस्थित होते हैं, इसलिए इसका प्रयोग कभी भी खाने में नहीं करना चाहिए।
  3. यदि आपको किसी भी प्रकार की एलर्जी है, तो इसका सेवन बिल्कुल न करें।
Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here