माजूफल एक प्रसिद्ध जड़ी-बूटी है। इसका वैज्ञानिक नाम "क्वेरकस इंफेकटोरिया" है। माजूफल मुंह के रोगों के लिए एक उत्तम औषधी है। माजूफल वास्तव में कोई फल नहीं है। बल्कि जंगली वृक्ष की शाखा का एक विशेष प्रकार के कीड़े...
निर्गुन्डी एक आयुर्वेदिक जड़ी - बूटी है, जो हिमालय के तराई वाले क्षेत्रों में पायी जाती है। इसका वानस्पतिक नाम "वाइटेक्स" है। इसकी तासीर गरम होती है। इसका प्रयोग जोड़ों तथा मांसपेशियों के दर्द में तथा अस्थमा के रोग...
जैसे-जैसे पुरुष वयस्क हो जाते हैं, वे अपने स्वास्थ्य और कल्याण पर असर डालने के विभिन्न क्षेत्रों को पा सकते हैं। एक विशेष स्थिति जो कई पुरुषों को वयस्क होने पर प्रभावित करती है, वह लिंग के सीधा होने...
इसे शीतपित्त या हीव्स (Urticaria/Hives) के नाम से भी जाना जाता है। जब शरीर में पित्त की मात्रा अधिक हो जाती है या किसी कारण से शरीर में पित्त बढ़ जाता है। तो इससे होने वाली समस्या को "पित्ती"...
थायरॉइड ग्रंथि गले की ग्रंथी है, जिससे थय्रोक्सिन हार्मोन बनता है। जब यह हार्मोन्स कम हो जाते हैं तब शरीर का मेटाबॉलिज़्म काफी तेज होने लगता है और शरीर की ऊर्जा भी जल्दी ख़त्म हो जाती है। लेकिन जब...
क्या आपको अपने साथी को संतुष्ट करने में कठिनाई होती है? टेस्टो अल्ट्रा यौन इच्छा और आपके बचपन की गलतियों के समाधान के लिए एक सटीक उपाय है| आपको यह जानना अति आवश्यक है कि दुनिया भर में 60%...
हकलाने (Stuttering or Stammering) की समस्या कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है। इस समस्या से नियमित रूप से किये गए अभ्यास के द्वारा भी छुटकारा मिल सकता है। सामान्यतः यह रोग २-७ वर्ष की आयु के मध्य में शुरू...
पित्ताशय मनुष्य के शरीर का एक Organ होता है, जो की Liver के नीचे स्थित होता है। इसका आकार बिना फूले गुब्बारे की तरह होता है। पित्ताशय को Storage Organ भी कहते हैं। इसमें Bile का Storage रहता है।...
मालकांगनी की बेल पर्वतीय क्षेत्रों में अधिक पायी जाती है। इसके पत्ते नुकीले होते हैं। इसका वैज्ञानिक नाम सिलीस्ट्रस पेनिकुलेटा (Celastrus Paniculatus) होता है। तथा अंग्रेजी में इसे "Staff Tree" के नाम से जाना जाता है। यह गर्म प्रकृति का होता...
25FansLike
0FollowersFollow
4FollowersFollow

Recent Posts