बच्चों को रात में बिस्तर पर पेशाब करने से कैसे रोके?- Bed Wetting Cause and Natural Treatments

0
78

अक्सर हम देखते है कि छोटे बच्चे  रात को बिस्तर पर पेशाब कर लेते है, पर उम्र के साथ -साथ बच्चों की यह परेशानी  ख़त्म  हो  जाती है, पर कुछ बच्चों  में  यह परेशानी बनी रहती है। जिससे उन बच्चों के  पेरेंट्स भी परेशान रहते है और वह इसके इलाज के लिए डॉक्टर्स के पास जाते है।

बिस्तर गीला  करने के कारण

  • दूध ज्यादा पीना- छोटे बच्चे  रात में दूध ज्यादा पीकर  सोते है । जिसके कारण उनको पेशाब ज्यादा बनता है |
  • किड्नी या ब्लैडर इन्फेक्शन– किडनी या ब्लैडर में इन्फेक्शन के कारण भी पेशाब की प्रॉब्लम अधिकतर रहती है । इससे ब्लैडर में पेशाब जमा करने की छमता कम हो जाती है।

ये भी पढ़ें: होम्योपैथिक इलाज़: बच्चों का रात में बिस्तर गीला करना आसानी से छुड़ाए

बच्चों के बिस्तर गीला करने के उपाय

  1. रात को सोते समय बच्चों को दूध ज्यादा मात्रा में न दे ।
  2. बच्चों को सोने से पहले एक बार पेशाब जरूर करा कर  सुलाएं और रात में करीब २-3 बजे पर बच्चों को एक बार पेशाब जरूर कराएं ।
  3. बच्चों की कमरे में हलकी रोशनी भी रखे ताकि रात के समय वह खुद उठ कर पेशाब जा सकें ।
  4. सुबह जब बच्चा नींद से उठेगा और  अपना बिस्तर गीला नहीं पायेगा तो उसे यह देख कर बहुत ख़ुशी होगी । लेकिन आप भी इस बात के लिए बच्चे की  तारीफ जरूर करे ।
  5. कुछ बच्चे रात में पेशाब के लिए उठते है पर डर की बजह से फिर से सो जाते है और बिस्तर गीला कर देते है । ऐसे में बच्चे को डांटें नहीं बल्कि उसके मन से डर को दूर करें ।
  6. अगर बड़ा बच्चा रात को सोते समय बिस्तर गीला करता है तो उसे शर्म महसूस होती है । ऐसे मे उसे डांटें नहीं बल्कि उसकी इस परेशानी को समझें  और किसी अच्छे डॉक्टर को दिखा कर सलाह ले ।

घरेलु इलाज

  1. रात को सोने से पहले बच्चे को १ ग्राम अजवाइन को पानी में उबाल कर काढ़ा बना कर पिलाये ।  इस काढ़े को लगातार कुछ दिनों तक पिलाने से इस परेशानी में आराम मिलेगा
  2. रात के समय AC और कूलर में सोने पर जब रूम ठंडा हो जाता है तब बच्चे ठण्ड महसूस कर बिस्तर को गीला करते है इसके लिए बच्चों को रात में गुड़  खिलाना चाहिए जिससे उनके शरीर में गर्मी बनी रहे ।
  3. रात को पानी में 8-10 किशमिश (Raisins) भिगोकर सुबह खली पेट बच्चे को खिलाने से भी इस समस्या को दूर करने में मदद मिलती है ।
  4. बच्चे को दिन भर में २-३ केले खिलाएं, ये भी उपाय फायदेमंद होता है ।
  5. बच्चों को अखरोट खिलाना भी इस परेशानी को दूर करने में मदद करता है।

Note: These home remedies also work on older child at age 10 or More.

Facebook Comments