पपीता खाने के चौंकाने वाले 9 फायदे- Benefits of Eating Papaya

0
28

पपीते का फल जितना स्वादिष्ट होता है, उतना ही पौष्टिक भी होता है। पपीते में पेप्सिन नामक तत्व पाया जाता है। यह मनुष्य की पाचन प्रणाली को बढ़ाता है। पपीते खाने से क्षय रोग के कीटाणुओं का भी खात्मा होता है। पपीते के फल, पत्ते और बीज तीनों में ही औषधीय गुण पाए जाते हैं। पपीते के फल में विटामिन A, और विटामिन C के साथ -साथ मेग्नीशियम, पोटेशियम, प्रोटीन तथा फाइबर प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं।

पपीते के फायदे

पपीता खाने के अनेकों फायदे है। यह हमारी रोग प्रतिरोधक छमता को बढ़ाने के साथ -साथ रोगों से लड़ने की तागत भी देता है।

  • हृदय रोग में

पपीते का सेवन हृदय रोग में लाभकारी होता है। पपीते में फाइबर, पोटेशियम, और विटामिन होते हैं। जो हृदय को शक्ति प्रदान करते हैं। पपीते में एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं। जो ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को काम करने और लिवर तथा हार्ट को सही रखने में सहायक होते है।

  • पाचन क्रिया में

पपीते में पपेन नामक एंजाइम की उच्च मात्रा पायी जाती है, जो पाचन क्रिया को उत्तेजित करने में सहायक होती है।

  • आँखों के लिए

पपीते में विटामिन A, विटामिन C, और विटामिन E उपस्थित होती हैं। जो आँखों की रोशनी के लिए लाभकारी हैं। इसमें कैरोटिनॉइड ल्यूटिन और जेक्सेटीन भी पाया जाता है। जो उच्च ऊर्जा वाले नीले प्रकाश से आँखों को सुरक्षा प्रदान करते हैं।

  • बालों के लिए

पपीता बालों के लिए औषधी के रूप में काम करता है। पपीते में विटामिन और एंजाइम भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। जो बालों के लिए लाभकारी होते है।पपीते के पत्तों का रस निकालकर बालों में लगाने से यह कंडीशनर का काम करता है।

  • गठिया के रोग में

पपीते में पपेन और चयमोपपेन नामक दो प्रोटीन पाए जाते हैं। जो संधिशोथ से जुडी सूजन को कम करता है।

  • बजन कम करने में

पपीता विटामिन और फाइबर का उच्चतम स्रोत होता है। यह पोषक तत्वों से भरपूर होता है। पपीते में उपस्थित पपेन प्राकृतिक एंजाइम का काम करता है। जो पाचन में सहायक होता है।

  • त्वचा के लिए

पपीता त्वचा के लिए लाभकारी होता है। पपीते के गूदे में शहद और नीबूं का रस मिलाकर त्वचा पर लगाने से त्वचा पर निखार आता है।

  • अनियमित मासिकधर्म में

जिन महिलाओं को माहवारी के समय दर्द और परेशानी रहती है। उनके लिए पपीता बहुत लाभकारी होता है। यह सूजन कम करता है तथा कमजोरी भी नहीं होने देता।

  • कैंसर के लिए

पपीता रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करता है। पपीते के पत्ते, फल तथा बीज तीनो ही स्वास्थ के लिए लाभकारी होते है। पपीते के बीज के चूर्ण का सप्ताह में तीन बार सेवन करने से कैंसर की कोशिकाएं नष्ट हो जाती है।

Facebook Comments