उच्च कोलेस्ट्रॉल (High Cholesterol) का होम्योपैथिक उपचार

0
34

शरीर में कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना एक आम समस्या हो गई है। इसका कारण यह है, कि आज के समय में हम ज्यादा तला हुआ, ज्यादा मिर्च मसाले वाला भोजन खाना पसंद करते हैं। कोलेस्ट्रॉल एक प्रकार का तेल होता है, जो Cells में बनता है। मनुष्य के शरीर में जो cells होते हैं, उससे भी कोलेस्ट्रॉल बनता है। कोलेस्ट्रॉल कई प्रकार के होते हैं, और शरीर में उनकी मात्रा भी अलग-अलग होती है। शरीर में यदि कोलेस्ट्रॉल की मात्रा 200 से ज्यादा होती है, तो उसे High Cholesterol कहा जाता है। यदि मनुष्य का LDL Cholesterol 130 से अधिक है, तो उसे भी High Cholesterol कहा जाएगा। यदि मनुष्य का HDL Cholesterol 50 से कम  है, तो उस स्थिति में भी Cholesterol Level High माना जाता है। और यदि मनुष्य का Triglycerides Level 200 से कम हो गया है, तो इस स्थिति में भी Cholesterol High कहा जाएगा।

High Cholesterol के  कारण

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का मुख्य कारण हमारा खान -पान होता है, इसके कुछ अन्य कारण इस प्रकार है।

  1. अधिक मांसाहारी भोजन खाने से कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाता है।
  2. अधिक मात्रा में अंडे या दूध से बने पदार्थों का सेवन करने से भी कोलेस्ट्रॉल स्तर बढ़ जाता है।
  3. अधिक मात्रा में घी का सेवन करना भी हानिकारक होता है। इसके सेवन से भी कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है।
  4. यह आनुवंशिक भी होता है।
  5. अधिक मानसिक तनाव, थकान और चिंता के कारण भी कोलेस्ट्रॉल स्तर बढ़ जाता है।
  6. अधिक समय तक एलोपैथिक दबाओं का प्रयोग करने से भी कोलेस्ट्रॉल स्तर बढ़ जाता है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने के लक्षण

कोलेस्ट्रॉल लेवल बहुत धीरे – धीरे बढ़ता है, जिससे इसके बढ़ने का पता नहीं चलता है। परन्तु कुछ ऐसे लक्षण है,जिससे कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का पता लग सकता है।

  1. यदि व्यक्ति बहुत सुस्त रहता है, तो संभव है कि आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ रहा है।
  2. यदि व्यक्ति मोटा है और मोटापा कम नहीं हो रहा है। तो हो सकता है कि कोलेस्ट्रॉल स्तर बढ़ गया हो।
  3. शरीर में ठीक से खून का संचार न होना, कोलेस्ट्रॉल लेवल ले बढ़ जाने से ग्रंथियों में खून जम जाता है। और खून का संचार ठीक प्रकारसे नहीं हो पाटा है।
  4. कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ जाने से हार्ट अटैक की संभावना बढ़ जाती है, क्यूंकि हृदय की धमनियों में खून का संचार सही प्रकार से नहीं हो पाता है।

कोलेस्ट्रॉल लेवल को नियंत्रित करने के लिए होम्योपैथिक औषधियाँ

  • Allium Sativum Q

इसे आम भाषा में लहसुन कहा जाता है। लहसुन हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल के लिए बहुत लाभदायक होता है, और यह दवा उसी से बनाई जाती है। यह दवा हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में बहुत असरदार है। इसकी 20-20 बून्द 1/2 कप पानी में दिन में 2 बार लें।

  • Crataegus Oxyacantha Q

यह दवाई न केवल कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में उपयोगी है, बल्कि यह एक हृदय टॉनिक भी है। यह दवा हृदय के लिए बहुत अच्छी है। हृदय की धमनियों में जो खून जमता है, यह उसे भी ठीक करती है। इसकी  20-20 बून्द 1/2 कप पानी में दिन में 2 बार लें।

  • Cholestrinum  3x

यह कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने के लिए बहुत अच्छी औषधी है। इसकी 2-2 गोली दिन में 3 बार लें।

  • Guteriea  Gumari

यह औषधी Bad Cholesterol को Good Cholesterol में बदलती है। यह Drop और Tablet दोनों Form में उपलब्ध है। Drop form में इसकी 20-20 बून्द 1/2 कप पानी में दिन में 2 बार और Tablet Form में इसकी 2-2 tablet दिन में 3 बार लें।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here