बारिश के मौसम में होने वाली बीमारियां और होम्योपैथिक उपचार- Homeopathic Treatment of Monsoon Diseases

0
58

दोस्तों बरसात का मौसम आ रहा है और इस मौसम में बहुत सी बीमारियाँ उत्पन्न हो जाती है । जिनके बारे में हम आपको आगे बताएँगे और उनका होम्योपैथिक उपचार भी बताएँगे ।

बरसात में होने वाली बीमारियां और उनका उपचार

बारिश के पानी में कई तरह के बैक्टीरिया पैदा हो जाते हैं जिनसे फंगल इन्फेक्शन, जुकाम, देरी होने के संभावना बढ़ जाती हैं। इनकी विस्तृत जानकारी और समय पर उपचार हमे और हमारे परिवार को इन बीमारियों से बचा सकता है।

1. सर्द गर्म (Summer Cold)

Sick woman blowing her nose

यह एक आम बीमारी है जो कि आप जरा सा भी भीग जाये तो उसके बाद हो जाता है। सर्दगर्म में आपको सिर में दर्द , छींके आना , जुकाम का होना ये लक्षण दिखाई देंगे। इसके लिए आप होम्योपैथिक उपचार ले सकते है।

  • Bio combination No .6

यह सर्दी और जुखाम की आम दवा है। यह दवा आपको आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर पर मिल सकती है। वयस्क इसकी 4-4 गोलियां दिन में 3 से 4 बार ले सकते हैं। और बच्चों को 2-2 गोलियां दिन में 3 से 4 बार दें।

  • Bryonia  Album  30 CH
  • Dulcamara 30 CH 
  • Rhus  Tox 30 CH
  • Aconite Nap 30 CH

ये सभी मेडिसिन्स लक्षणों  के आधार पर दी जाती है।

Dose

ADULT~    3-4  ड्राप तीन बार प्रतिदिन

CHILDREN~  1-2 ड्राप तीन बार प्रतिदिन

2. अतिसार या डायरिया (Diarrhea)

बरसात के दिनों में व्यक्तियों को डायरिया की परेशानी अधिकतर हो जाती है। क्योकि  अधिकतर व्यक्ति  का बाहर खाना पसंद करते हैं जिससे बैक्टीरियल इन्फेक्शन  हो जाता है। और व्यक्ति का पेट ख़राब हो जाता है। डायरिया के रोग को होम्योपैथिक इलाज से पूरी तरह ठीक किया जा सकता है।

डायरिया का होम्योपैथिक इलाज (Homeopathic Treatment of Diarrhea)

  1. Arsenic Album  30 CH -इस दबा का प्रयोग डायरिया में तब होता है, जब व्यक्ति बाहर से खाना खाकर आया हो।  और उसे दस्त हो हो जाएँ तो मरीज को इस दबा की 3 -4  ड्रॉप सीधे उसकी जीभ पर दिन में 3 -4  बार दी जाए तो उसे आराम मिलेगा।और यदि मरीज कोई बच्चा है तो ये डोज़ आधी कर दें।
  2. Podophyllum 30 CH -यह डायरिया की बहुत अच्छी दबा है। जिस व्यक्ति को लूज़ मोशन हो रहे हों तो उसे इस दबा की 3 -4  ड्रॉप हर 2  घंटे पर दें जल्दी आराम मिलता है। जब आराम मिल जाए तब इसकी डोज को दिन में सिर्फ  3 बार ही दें।
  3. Veratrum Album 30 CH -जब किसी व्यक्ति को ज्यादा दस्त हो जाएँ, तो उस व्यक्ति में पानी की कमी हो जाती है। जिसे डिहाइड्रेशन कहते हैं।उस स्थिति में इस दबा की 3 -4  ड्रॉप हर 2 घंटे पर दें।और आराम मिलने पर दिन में 3 बार कर दें।
  4. Bio combination No .8 – यह डायरिया की कॉमन मेडिसन है।  इसकी 4 -4  गोलियां दिन में 4 बार लें।बच्चों को 2 -2  गोलियां दिन में 4  बार दें।
  5. Kurchi Q -इस दबा का प्रयोग डायरिया में होता है। इसकी 10 ड्रॉप 1 /2  कप पानी में हर 1  घंटे पर दें।  इससे डायरिया में तुरंत आराम मिलता है।

Note- जिस व्यक्ति को दस्त हो रहे हों उसे नियमित रूप से ORS या Electrol Powder का पानी अवश्य पिलाते रहें।

3. दाद (Ringworm)

बरसात के मौसम में सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बीमारी दाद है। यह अक्सर बरसात के मौसम में होता है। क्यूंकि बरसात के मौसम में उमस रहती है।जिसके कारण पसीना बहुत आता है। जिससे दाद ( Ring Worm )  हो जाते हैं।  इसे फंगल इन्फेक्शन भी कहते हैं।

दाद का होम्योपैथिक इलाज (Homeopathic Treatment of Ring Worm)

  1. Sepia 30 CH – यह दाद में प्रयोग होने बाली दबा है।इसकी 3-4 ड्रॉप  दिन में 3 बार लें।
  2. Baccillinum  200 CH – इसकी  3-4 ड्रॉप सप्ताह में 1 बार लें।
  3. Graphitis 30 CH  -इसकी 3-4 ड्रॉप दिन में 3 बार लें।
  4. Tubercullinum 30 CH – इसकी 3-4ड्रॉप दिन में 2 बार लें।
  5. Rhus Tox 200 CH -इस दबा का प्रयोग  तब होता है। जब आपके ज्यादा खुजली हो रही हो ,तब इसकी  3-4 ड्रॉप दिन में 1 बार लें।
  6. Urtica urens Q – इसकी 10-10 बून्द दिन में दो बार आधे कप पानी में लें । दाद में आराम मिलेगा ।
Facebook Comments