मूत्राशय -प्रदाह ( Cystitis ) का होम्योपैथिक इलाज और दवाएं

0
10

मूत्राशय में सर्दी बैठ जाने पर, चोट लगने पर, मूत्र नली के सिकुड़ जाने पर, प्रोस्टेट ग्लैण्ड (Prostate Gland) की सूजन, पथरी तथा अन्य कारणों से मूत्राशय में प्रदाह (Bladderitis) उत्पन्न हो जाता है। मूत्राशय की झिल्ली में सूजन आ जाने पर मूत्राशय में दर्द, अकड़न तथा भार का अनुभव होता है। पेशाब में जलन, पेशाब में रक्त अथवा मवाद आना, सभी अंगों में कपकपी आदि लक्षण प्रकट होते हैं। इस बीमारी में दर्द ऊपर की ओर कमर तक फैलता है। जबकि मूत्र – ग्रंथि प्रदाह में दर्द नीचे की ओर अर्थात कमर से मूत्राशय तक फैलता है।

मूत्राशयप्रदाह (Cystitis) की होम्योपैथिक दवाएं

पेशाब का रुकना या बूँद – बूँद करके आना किसी बड़ी समस्या का कारण भी हो सकता है। यदि इसका सही समय पर इलाज न किया जाए तो यह किसी भयानक बीमारी का रूप भी ले सकता है।

  • Canthris 30

यह रोग की नयी अथवा पुरानी दोनों ही अवस्थाओं में लाभ करता है। बार – बार पेशाब जाने की इच्छा, जलन के साथ पेशाब की बूंदों का निकलना ओर कभी – कभी उनके साथ खून भी आना, मूत्राशय में अत्यधिक मरोड़ तथा शोथ होने पर इस औषधी की 10-10 बूँद 1/4 कप पानी में दें।

  • Berberis Vulgeris Q-

यदि रोगी की बार – बार पेशाब जाने की इच्छा, मूत्र – त्याग के समय तथा बाद में मूत्र – नली में जलन तथा काटता हुआ सा दर्द तथा इस दर्द का मुख्य कारण प्रायः गुर्दे में पथरी का होना होता है। तब इस औषधी की 5-5 बूँद 1/4 कप गुनगुने पानी में हर आधा घंटे के बाद दें। ( तकलीफ कम हो जाने पर औषधी देने का समय अंतराल बड़ा दें )।

  • Apis Mell 30

यदि रोगी को बार – बार पेशाब जाने की इच्छा के साथ कुछ जलन हो तथा मूत्राशय में भयंकर दर्द होने पर तथा कभी – कभी थोड़ा रक्तयुक्त गरम पेशाब निकलना और कभी बिल्कुल भी न आने पर इस औषधी की 10-10 बूँद 1/4 कप पानी में दिन में तीन बार दें।

  • Teribinth  6

यदि किसी रोगी को दर्द के साथ बूँद – बूँद पेशाब आये या पेशाब के साथ रक्त भी आये या थोड़ा पेशाब आकर पेशाब की मरोड़ बनी रहें तथा रात के समय पेशाब से बिस्तर तर हो जाए तब इस स्थिति में यह औषधी बहुत ही लाभकारी होती है। इस औषधी की 10-10 बूँद 1/4 कप पानी में दिन में तीन बार दें।

  • Copeva 30

यदि स्त्रियों के मूत्राशय तथा मूत्र – नली के मुँह पर सामान्य सी जलन, पेशाब का बूँद – बूँद तथा दर्द के साथ उतरने पर यह औषधी लाभकारी होती है। यह औषधी स्त्रियों के लिए बहुत ही उपयोगी है। इस औषधी की 10-10 बूँद 1/4 कप पानी में दिन में तीन बार दें।

  • Solidego Q-

पेशाब के रुकजाने पर इस औषधी के प्रयोग से कैथीटर लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। इस औषधी की 5-5 बूँद 1/4 कप पानी में दिन में तीन बार दें।

  • Merc Cor 30

पेशाब के बूँद – बूँद करके आने तथा पेशाब करते समय अत्यधिक जलन होने पर इस औषधी की 10-10 बूँद 1/4 कप पानी में दिन में तीन बार दें।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here