पीलिया (जॉन्डिस) के कारण, लक्षण और आयुर्वेदिक इलाज- Symptoms, Cause & How to Treat Jaundice Disease Naturally?

0
48

इस रोग के होने पर रोगी की आँखों की पुतलियां, हाथ, पैर, त्वचा आदि पर पीलीरंगत आ जाती है। अंग्रेजी में इसे जॉन्डिस (Jaundice) नाम से जाना जाता है और आयुर्वेद में इसे कामला कहते हैं। ऑब्स्ट्रक्टिव पीलिया का कारण है जिगर की नलिका में उत्तपन्न पित्त पथरी, ट्यूमर अथवा  सूजन का होना भी हो सकता  है।यह रोग बहुत ही सूच्छम विषाणु से उत्तपन्न होता है।जब यह 1 .0 % के स्तर पर होता है तब इसका पता भी नहीं चल पाता और जब इसका स्तर 2 .5 %तब इसके लक्षण दिखाए देने लगते है।पीलिया लिवर से सम्बंधित रोग है जब पीलिया बढ़ जाता है तब यह सीधा लिवर पर प्रभाव डालता है।

पीलिया के कारण (Cause of Jaundice)

  1. जब रोगी  के शरीर में खून की कमी होती है तब पीलिया होने की सम्भावना अधिक बढ़ जाती है।
  2. लीवर के काम  न करने पर भी पीलिया होने की सम्भावना होती है।
  3. जब रक्त में लाल  कणिकाओं की मात्रा नष्ट  हो जातीहै तब भी पीलिया बन जाता है।
  4. अधिक शराब का सेवन करने से भी पीलिया होने की सम्भावना बढ़ जाती है।

पीलिया के लक्षण

  • इस रोग में रोगी को कमजोरी, भूख न लगना, उल्टी, दस्त पूरे शरीर में खुजली का होना आदि लक्षण होते हैं।
  • रोगी  के पेशाब में गहरे पीली रंग का पदार्थ, मुंह में कड़वाहट तथा जिगर में सूजन आ जाती है।
  • पीलिया होने पर रोगी की आँखें पीली होने लगती हैं।
  • बुखार बना रहता है।
  • सिर के दाहिने भाग में दर्द रहता है।
  • पीलिया होने पर रोगी का बजन निरंतर घटता जाता है।

पीलिया ख़त्म करने का  आयुर्वेदिक उपचार

  १. टमाटर (Tomato)

पीलिया के रोगी के लिए टमाटर का जूस बहुत ही लाभकारी है।४-५ टमाटरों को ४०० -५०० मिली लीटर पाने में १५ मिनट तक उबालें।

उबले हुए टमाटरों का छिलका निकाल कर जूस बना लें और रोज एक गिलास जूस पीने से रोगी को आराम मिलता है।

  २. घृतकुमारी (Aloevera)

पीलिया के रोग में धृत कुमारी बहुत ही लाभकारी जड़ी-बूटी है। धृत कुमारी का रास रोगी को पिलाने से पीलिया जल्दी ठीक होता है।

  ३मूली का रस (Radish Juice)

पीलिया के रोग में मूली एक औषधी  के रूप में काम करती है।सुबह -सुबह ५० ग्राम मूली का रस पिलाने से रोगी को आराम मिलता है या फिर कच्ची मूली भी रोगी को खिला सकते  है वो भी पीलिया को कम करती है।

  ४. गिलोय चूर्ण (Giloy Powder)

गिलोय पीलिया के रोग में बहुत ही गुणकारी औषधी है ये पीलिया को ख़त्म करती है।गिलोय के चूर्ण में थोडी सी काली मिर्च पाउडर और थोड़ा सा शहद मिलाकर रोगी को पिलाने से पीलिया जल्दी ठीक होता है।

  5– दो खजूर, सात बादम और तीन इलायची को रात को सोने से पहले पानी में भिगो दें। सुबह इन सबको पानी से निकाल कर मिक्सचर में डाल लें तथा उसमें २ बड़े चम्मच चीन और एक बड़ी चम्मच मख्खन भी मिला लें। इन सबका पेस्ट बना कर दिन में एक बार इनका सेवन करने से पीलिया ख़त्म हो जाता है।

Facebook Comments